सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

Pimples: पिंपल्स होने के कारण एवं इनसे छुटकारा पाने के उपाय।

पिंपल्स, कील, मुंहासे, ब्लैकहेड्स, व्हाईटहेड्स आदि एक सामान्य समस्या है। इस समस्या का लगभग सभी व्यक्ति को सामना करना पड़ता है। वैसे तो ये समस्या बच्चो से लेकर जवानों में से किसी को भी हो सकती है, परन्तु ज्यादातर यह समस्या 13-19 साल वालों युवाओं में देखने को मिलती है। यही वह समय है जब हम अपने लुक्स को लेकर सचेत होते हैं और इन समस्यायों से छुटकारा पाने के लिए अलग अलग तरह की कॉस्मेटिक्स, मेडिसिन, क्रीम आदि का उपयोग करने लगते है, और इनके उपयोग से जब हमे अपने मनमुताबिक लाभ नहीं मिलता है तब हमारा मनोबल टूट जाता है और हमारे अंदर आत्मविश्वास की कमी आ जाती है। कोई भी उत्पादों का उपयोग करने से पहले इन समस्यायों के कारण के बारे में जानना बहुत जरूरी है। इसलिए आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से नीचे दिए गए बिंदुओं पर प्रकाश डालने की यथासंभव कोशिश करेंगे। इस लेख से हम निम्नलिखित बिंदुओं पर जानकारी देंगे। 1. पिंपल्स और मुंहासे कैसे होते है? 2. पिंपल्स होने का मुख्य कारण क्या है? 3. पिंपल्स से छुटकारा कैसे पाएं? 4. पिंपल्स से बचने के उपाय? 5. पिंपल्स से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय। 6.  क्या हस्तमैथुन क

Weight loss: diet for weight loss and some tips

क्या आपका वज़न ज्यादा है? क्या आप भी अपने बढ़े हुए वज़न से परेशान है? क्या आप भी अपने बढ़े हुए वज़न को कम करना चाहते है? यदि आपका जवाब हाँ है तो आप सही जगह पर आए है आज हम आपको ऐसे उपाय के बारे में बताने जा रहे है जो आपको अपना वज़न कम करने में सहायक साबित होगी और हमारे देश में कुछ भ्रम फैले है हम उन्हें भी दूर करना का प्रयास करेंगे। इस लेख के माध्यम से हम इन निम्नलिखित बिंदुओं पर प्रकाश डालने की कोशिश करेंगे। वजन कम करने के उपाय और नियम  वज़न कम करने के लिए रोजाना की डाइट नोट - इस आर्टिकल में हमने कुछ प्वाइंटों को हाईलाइट किया है आप उन्हें अवश्य पढ़िए और उन बातो पर गौर करिए ताकि हमारे देश में वज़न घटाने को लेकर जो कुछ भ्रम फैले है वो दूर हो सके।  सिर्फ अच्छी डाइट लेने से या सिर्फ व्यायाम करने से आपको अपने मन के मुताबिक परिणाम मिलना संभव नहीं है, इसके लिए आपको अच्छी डाइट और व्यायाम करने के साथ साथ रोजाना पर्याप्त नींद और तनाव तथा डिप्रेशन से दूर रहना भी जरूरी है। तनाव के दौरान हमारा शरीर कार्टोसोन नामक हार्मोन छोड़ता है जो हमारी चयापचय(मेटाबोलिक) दर को कम करता है, जिससे अवांछित वजन बढ़ता

Weight loss tips and tricks. वज़न कम करने के उपाय

  इन दिनों अधिक से अधिक कार्य शारीरिक के बजाय बौद्धिक होते जा रहे है।  दिन भर ऑफिस की कुर्सियों पर बैठना हममें से कई लोगों के लिए एक आदर्श बन गया है।  तनाव, व्यस्तता और भागदौड़ के कारण हम नियमित भोजन के बारे में भूल जाते हैं और हमारे पेट को चीज़बर्गर और सोडा जैसे फैटी पदार्थो से भर देते हैं, जो हमारे शरीर के लिए कुछ भी अच्छा नहीं करते हैं।  इस तरह की जीवनशैली जीने के परिणामस्वरूप हमारे वज़न बढ़ जाता है और हमारी रोगप्रतिरधक क्षमता भी कम हो जाती है जिसके कारण हम अनेक बीमारियों के शिकार हो जाते हैं। हमें व्यायाम, जिम या संतुलित पोषण के लिए शायद ही कभी समय मिलता है।  वास्तव में, यह एक कारण है कि अब 60% से नागरिक अधिक वजन वाले हैं।  हालांकि, अगर आप चाहें तो अपनी जीवनशैली में बदलाव करके अपना वजन कम कर सकते है।  नीचे दिए गए ये 7 दिन-प्रतिदिन के जीवन सुझाव आपको अपने अतिरिक्त पाउंड को कम करने, अधिक ऊर्जावान और स्वस्थ बनने में मदद करेंगे। Weight loss tips: वज़न कम करने के उपाय।  1. अधिक पानी पिएं।  हमारे शरीर को पानी की बहुत जरूरत होती है।  पानी हमारे शरीर से अपशिष्ट पदार्थों को हटाता है और विभि

मुंह के छाले- कारण, प्रकार, लक्षण और उपचार।

 इस लेख में हम निम्नलिखित बिंदुओं पर प्रकाश डालेंगे। 1. मुंह के छाले क्या होते हैं। 2. मुंह के छालों के कारण। 3. मुंह के छालों के लक्षण। 4. मुंह के छालों का इलाज। 5. मुंह के छालों का घरेलू इलाज। • मुंह के छाले क्या होते है? छाले छोटे खुले और दर्दनाक क्षेत्र होते हैं जो मुंह में विकसित होते हैं।  वे आपके मुंह के कोमल ऊतकों(tissue) पर दिखाई देते हैं, जिसमें आपके मसूड़े का आधार, जीभ, आपके गालों के अंदर की परत, होठों के अंदर और गले के अंदर शामिल हैं।  वे आमतौर पर लाल भूरे रंग की सीमा(border) के साथ भूरे या पीले रंग के होते हैं। मुंह के छाले संक्रामक नहीं होते हैं और आमतौर पर बिना इलाज के एक या दो सप्ताह में ठीक हो जाते हैं।  लेकिन कभी-कभी वे एक महीने से अधिक समय तक भी रह सकते हैं ऐसी स्थिति में यह आवश्यक है कि आप अपने डॉक्टर से परामर्श लें क्योंकि मुंह के छालों के लिए कई घातक बीमारियां भी जिम्मेदार होती हैं। और उन बीमारियों का सही समय पर इलाज बहुत आवश्यक है। मुंह के छाले आमतौर पर तीन प्रकार के होते है। 1. मुंह के छोटे छाले सभी व्यक्तियों में आम तौर पर देखे जाते है। ये 3-10 मिमी की रेंज के

वजन बढ़ाने के लिए दैनिक आहार। Diet for weight gain.

सेहतमंद तथा निरोग रहने के लिए वज़न का संतुलित होना बहुत आवश्यक है। वैसे तो बहुत से लोग अपने बढ़े हुए वज़न  को लेकर परेशान है परन्तु कुछ ऐसे भी लोग है जो अपने कम वज़न से चिंतित है। आपको अपने आस पास ऐसे बहुत से लोग मिल जाएंगे जिनका वज़न उनकी आयु तथा कद काठी के हिसाब से बहुत कम है। ऐसे लोग कुछ भी खा ले परन्तु उनके शरीर पर उसका कुछ भी फर्क नहीं पड़ता। वज़न बढ़ाने के लिए डाइट जानने से पहले वज़न ना बढ़ने के कारण और उससे होने वाली समस्या के बारे में जान लेना बहुत आवश्यक है। वज़न बढ़ाने में सहायक डाइट के बारे में जानने के लिए इस लेख को स्क्रॉल करे। वज़न ना बढ़ने के कारण होने वाली समस्या वैसे ऐसे लोग जो खाने पीने के बहुत ज्यादा शौकीन हैं उनके लिए तो यह कोई वरदान से कम नहीं है। परन्तु इस समस्या से परेशान लोगो के लिए जैसे यह अभिशाप सा बन गया है। अपने कम वज़न के कारण उन्हें अनेक मानसिक उत्पीडनाओ तथा शारीरिक कष्टों का सामना करना पड़ता है। लोग उनके कम वज़न के कारण उनका मजाक उड़ाते है, उन्हें चिड़ाते है, उन्हें टॉर्चर करते है तथा उनका फायदा उठाते है। और तो और वज़न ना बढ़ने से हमारा इम्यून सिस्टम कमजो

गर्भावस्था के दौरान किन चीजों का सेवन करना लाभकारी है। ( Part1)

गर्भावस्था हमेशा महिलाओ को अपार खुशी देती है। हर महिला यही चाहती है कि उसके गर्भ में पल रहे शिशु का विकास अच्छे तरीके से हो और वह स्वास्थ्य रहे। परन्तु इसके लिए आपका स्वस्थ तथा पौष्टिक आहार का सेवन करना बेहद आवश्यक हैं। जब महिलाएं गर्भवती होती है तो हमारे यहां परिवार वाले तथा हमारे सुभचिन्तक अपने अपने अनुभवों के आधार पर सलाह देना शुरू कर देते है की क्या खाना है और क्या नहीं। परन्तु हमारे समाज में कुछ भ्रम फैले है जिनसे हम चाहकर भी छुटकारा नहीं पा सकते। परन्तु ऐसे विचार रखने वाले लोगों की बातों पर ज्यादा ध्यान ना देते हुए आपको आपके डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। गर्भावस्था के दौरान ऐसा क्या खाएं जिससे बच्चा गोरा पैदा हो? अगर आप गर्भवती है तो आपने अपने परिवार वालों, अपने रिश्तेदारों या अपने आस पड़ोस में रहने वाले लोगों से यह अवश्य सुना होगा कि गर्भावस्था के दौरान काली चीजों का सेवन करने से बच्चा काला पैदा होता है, सफेद चीजों जा सेवन करने से बच्चा गोरा होता है या केसर के सेवन से बच्चा गोरा होता है। परन्तु इसके साक्ष्य कहीं पर भी नहीं मिलते, वैज्ञानिकों के अनुसार बच्चे का रंग उसके माता पिता के

त्वचा में निखार तथा चमक लाने के लिए विटामिन तथा मिनरल्स की भूमिका।

  हम सभी झुर्रियो, मुंहासे, फुंसी, दाग और ऐसी अनेक त्वचा संबंधी समस्यायों से निपटने के लिए विभिन्न प्रकार के उत्पादों का उपयोग करते हैं, पर हम सब यह जानते है कि इनके उपयोग से इन समस्यायों को जड़ से खत्म नहीं किया जा सकता। इन समस्यायों से छुटकारा पाने के लिए हमे हमारे शरीर के अंदर मौजूद विषाक्त पदार्थों को निकालना या उन्हें कंट्रोल करना होगा तभी हम इन समस्यायों से छुटकारा पा सकते है। इसके लिए विटामिन, खनिज और अन्य पोषक तत्वों के सही सेवन की आवश्यकता होती है। विटामिन और मिनरल्स को सही मात्रा में अपने आहार में शामिल करना हमारे सम्पूर्ण स्वास्थ्य के लिए अत्यंत आवश्यक है।  Glowing skin । beautiful skin । सुंदर त्वचा हमारी त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने के लिए किन विटामिनों की आवश्यकता है। 1. विटामिन सी विटामिन सी हमारे लिए इतना महत्वपूर्ण इसलिए है क्योंकि इसका उपयोग शरीर द्वारा कोलेजन का उत्पादन करने के लिए किया जाता है।  कोलेजन मुख्य रूप से एक प्रोटीन है जो त्वचा को लचीलापन और बालों को मजबूती देने के लिए जिम्मेदार है। विटामिन सी में एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते है जो कि जो हमारे शरीर से फ्री रेडिक